×

क्रिप्टोकोर्रेंसी

1 अप्रैल से क्रिप्टो की इनकम पर लगेगा 30 प्रतिशत टैक्स

नए वित्त वर्ष 2022-23 की शुरुआत के साथ क्रिप्टोकरेंसी में व्यापार से होने वाली आय पर शुक्रवार से 30 प्रतिशत कर लगेगा. साथ ही कई आयकर प्रस्ताव भी लागू हो जायेंगे.

नई दिल्ली: नए वित्त वर्ष 2022-23 की शुरुआत के साथ क्रिप्टोकरेंसी में व्यापार से होने वाली आय पर शुक्रवार से 30 प्रतिशत कर लगेगा. साथ ही कई आयकर प्रस्ताव भी लागू हो जायेंगे.

खबर में खास
  • स्रोत पर कर कटौती
  • संशोधित नियमों के अनुसार
  • संशोधन करने का विकल्प
  • आय पर 30 फीसदी कर लगेगा
  • अनुमति एक अप्रैल, 2022 से नहीं होगी
स्रोत पर कर कटौती

इसके साथ ही 50 लाख रुपये से अधिक की अचल संपत्ति की बिक्री पर एक प्रतिशत टीडीएस (स्रोत पर कर कटौती) लगाने के संशोधित दिशा-निर्देश भी एक अप्रैल से लागू होंगे.

संशोधित नियमों के अनुसार

संशोधित नियमों के अनुसार रिटर्न या स्टाम्प शुल्क मूल्य, जो भी अधिक हो, उस पर एक प्रतिशत का टीडीएस काटा जाएगा.

संशोधन करने का विकल्प

अगले वित्त वर्ष की शुरुआत से मूल आईटीआर में कोई चूक होने पर आयकरदाताओं के पास अपने आयकर रिटर्न में संशोधन करने का विकल्प होगा. करदाताओं को इस तरह का संशोधित रिटर्न प्रत्येक वित्त वर्ष में केवल एक बार दाखिल करने की अनुमति होगी.

आय पर 30 फीसदी कर लगेगा

इसके अलावा एक अप्रैल, 2022 से वर्चुअल डिजिटल एसेट्स या क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन से होने वाली आय पर 30 फीसदी कर लगेगा. इस आय पर करदाताओं की कुल आय 2.50 लाख रुपये की सीमा से कम होने के बावजूद कर लगाया जाएगा.

अनुमति एक अप्रैल, 2022 से नहीं होगी

नांगिया एंडरसन एलएलपी भागीदार नीरज अग्रवाल ने कहा कि धारा 14 ए के तहत खर्चों को शामिल करने की अनुमति एक अप्रैल, 2022 से नहीं होगी. छूट प्राप्त आय अर्जित करने के लिए किए गए खर्च पर कटौती की अनुमति नहीं होगी.