×

देश

69000 teacher recruitment: सीएम आवास के बाहर प्रदर्शन, शिक्षकों और पुलिसकर्मियों के बीच हुई झड़प

लखनऊ : शिक्षक भर्ती में हुए गड़बड़ी और खिलवाड़ की जांच की मांग लंबे समय से कर रहे है. 13 जनवरी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ में उन तमाम शिक्षकों ने सीएम आवास का घेराव किया, जिनकी नियुक्ति लंबे समय से लंबित है. आपको बता दें कि 69000 teacher recruitment में हुई गड़बड़ी का मामला… Continue reading 69000 teacher recruitment: सीएम आवास के बाहर प्रदर्शन, शिक्षकों और पुलिसकर्मियों के बीच हुई झड़प

69000 teacher recruitment

लखनऊ : शिक्षक भर्ती में हुए गड़बड़ी और खिलवाड़ की जांच की मांग लंबे समय से कर रहे है. 13 जनवरी को उत्तर प्रदेश के लखनऊ में उन तमाम शिक्षकों ने सीएम आवास का घेराव किया, जिनकी नियुक्ति लंबे समय से लंबित है. आपको बता दें कि 69000 teacher recruitment में हुई गड़बड़ी का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. जिस तरह से मौसम की शर्दी तेज हो रही है, ऐसे ही शिक्षकों भी गुस्सा फुट रहा है.

69000 teacher recruitment

69000 teacher recruitment: अबतक 68000 से ज्यादा शिक्षकों मिल चुकी नौकरी

कई बार प्रदर्शन करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले का संज्ञान भी लिया था, इसके बावजूद भी 6800 आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने का वादा करते हुए सरकार द्वारा सूची जारी होने के बावजूद उन्हे अबतक न्याय नहीं मिल पाया है .

शिक्षक की नियुक्ति में हुई प्रशासनिक धांधली का आरोप है. गौरतलब हो कि अबतक 69000 शिक्षकों में से 68000 शिक्षकों की नियुक्ति हो चुकी है. जबकि 6800 शिक्षकों की भर्ती अब लंबित है. जिसको लेकर लंबे समय से तमाम शिक्षक आंदोलन कर रहे है. 13 जनवरी की सुबह कड़ाके की ठंड में शिक्षकों ने सूबे के मुखिया यानी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आवास का घेराव किया गया. जिसके बाद पुलिस और शिक्षकों के बीच झड़प हुए. इस प्रदर्शन में महिलाओं की भी शामिल थी. उनके भी घायल होने की खबर है.ये मामला प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति से जुड़ा है.

69000 teacher recruitment: मांग पूरी होने तक जारी रहेगा शिक्षकों का प्रदर्शन

सरकारी आंकड़ो के मुताबिक 69000 शिक्षकों की हुई भर्ती परीक्षा में कुल 1 लाख 46 हजार अभियार्थियों ने परीक्षा पास की थी. लंबे समय से प्रदेश के विभिन्न जिलों में प्रदर्शन कर रहे अभियार्थी का आरोप है कि ज्यादातर दलित और पिछड़े वर्ग के अभियार्थियों के नियुक्ति में गड़बड़ी हुई है, जिसके जांच की सिफारिश के लिए सरकार से गुहार लगा रहे लेकिन अबतक जांच कमिटी का गठन नही हो पाया है. प्रदर्शनकारियों ने 13 जनवरी को मांग को लेकर सीएम आवास के घेराव के बाद सरकार से दो टूक कहा है कि अब जबतक उनकी मांग पूरी नही होगी. तबतक अपना प्रदर्शन जोरदार तरीके से जारी रखेंगे.