×

देश

ARMY FESTIVAL : 3 दिन में पहुंचे 35000 लोग,भव्यता से हुआ समापन

LUCKNOW : 5 जनवरी को लखनऊ छावनी में शुरू हुए नो योर आर्मी फेस्टिवल का आज तीसरे दिन भव्य समापन समारोह संपन्न हो गया. कार्यक्रम के तीसरे और अंतिम दिन भी लोगों भारी भीड़ उमड़ी. इस दौरान खुकरी नृत्य, कलारीपयट्टू, सैन्य बैंड, सैन्य डॉग शो जैसे शानदार आकर्षक प्रदर्शन ने हर किसी का मन मोह… Continue reading ARMY FESTIVAL : 3 दिन में पहुंचे 35000 लोग,भव्यता से हुआ समापन

ARMY FESTIVAL IMAGE

LUCKNOW : 5 जनवरी को लखनऊ छावनी में शुरू हुए नो योर आर्मी फेस्टिवल का आज तीसरे दिन भव्य समापन समारोह संपन्न हो गया. कार्यक्रम के तीसरे और अंतिम दिन भी लोगों भारी भीड़ उमड़ी.

इस दौरान खुकरी नृत्य, कलारीपयट्टू, सैन्य बैंड, सैन्य डॉग शो जैसे शानदार आकर्षक प्रदर्शन ने हर किसी का मन मोह लिया. वही हॉट एयर बैलूनिंग और रॉक क्लाइम्बिंग का भी प्रदर्शन किया गया. समापन समारोह में सूर्या कमान के जीओसी-इन-सी लेफ्टिनेंट जनरल एनएस राजा सुब्रमणि, सूर्या कमान के चीफ ऑफ स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल मुकेश चड्ढा समेत कई वरिष्ठ सैन्य अफसर मौजूद रहे.

ARMY FESTIVAL में पहुंचे 35 हजार से ज्यादा लोग

3 दिन तक चले नो योर आर्मी-फेस्टिवल में सैन्य हथियारों और उपकरणों के मंत्रमुग्ध कर देने वाले प्रदर्शन को देखने 35 हजार से ज्यादा लोग आए. खासतौर पर स्कूल और कॉलेज के छात्रों के बीच ये इवेंट बहुत लोकप्रिय हुआ. आने वाले स्टूडेंट्स को सशस्त्र बलों में विभिन्न कैरियर अवसरों के बारे में अधिक जानने का अवसर भी मिला.

ARMY FESTIVAL ने आने के लिए कहा सबको धन्यवाद

आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल राजा सुब्रमणि ने नो योर आर्मी फेस्टिवल जबरदस्त भागीदारी के लिए नागरिकों को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा, “आत्मनिर्भरता पर ध्यान देने के साथ भारतीय सेना परिवर्तनकारी दौर से गुजर रही है और नो योर आर्मी फेस्टिवल में प्रदर्शित उपकरण और हथियार इस परिवर्तन को दर्शाते हैं.” आर्मी कमांडर ने उत्सव के आयोजन में शामिल भारतीय सेना की विभिन्न इकाइयों और रेजिमेंटों की भी सराहना की. उन्होंने सूचनात्मक स्टॉल लगाने के लिए भारतीय वायु सेना, जोनल भर्ती कार्यालय, एनसीसी, जिला सैनिक बोर्ड और राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय के प्रति आभार व्यक्त किया.

ARMY FESTIVAL जिसने देखा हो गया मुरीद

नो योर आर्मी फेस्टिवल के दौरान दर्शकों को लुभावनी प्रदर्शनियों से रूबरू कराया गया, जिनमें मार्शल आर्ट टीमों और विभिन्न सैन्य हथियारों और उपकरणों का साहसिक प्रदर्शन किया गया था. इस कार्यक्रम में आत्म-निर्भर भारत की तकनीक-संचालित सेना के साथ-साथ कई स्वदेशी निर्मित हथियार और सैन्य उपकरण भी शामिल थे. इस दौरान टी-90 टैंक, भारतीय सेना का मुख्य युद्धक टैंक, स्वदेशी के-9 वज्र स्व-चालित तोपखाने बंदूक, स्वदेशी रूप से निर्मित हथियार लोकेटिंग रडार, एंटी ड्रोन सिस्टम और बहुत कुछ शामिल रहे.

5 जनवरी को इस महोत्सव के उद्घाटन समारोह में सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे थे. जिन्होंने भारतीय सेना के वीर सैनिकों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा था कि भारतीय सेना राष्ट्र का गौरव है.

15 जनवरी को लखनऊ में होगी सेना दिवस परेड

सेना दिवस फेस्टिवल के तहत कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं. लखनऊ में सूर्या कमान द्वारा इस बार कई इवेंट ऑर्गनाइज किए जा रहे हैं. जिसमें 13 जनवरी को मध्य कमान अलंकरण समारोह. 14 जनवरी को लखनऊ छावनी में पूर्व सैनिक दिवस समारोह और 15 जनवरी 2024 को लखनऊ छावनी में 11 गोरखा राइफल्स रेजिमेंटल सेंटर परेड ग्राउंड में सेना दिवस परेड, शौर्य संध्या भी शामिल हैं.

और भी खबरों के लिए यहां क्लिक करें