×

देश

‘महाराज’ का अयोध्या ‘मैनेजमेंट’

अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम श्रद्वालुओं में रामलला के नज़दीक से दर्शन के लिए होड़ लग गई और अयोध्या में रामभक्तों का सैलाब उमड़ आया. इन सबके बीच बड़ी बात ये है कि अयोध्या में लिए किया गया ‘महाराज’ का अयोध्या ‘मैनेजमेंट’ ना केवल काम आया, बल्कि ग्राउंड… Continue reading ‘महाराज’ का अयोध्या ‘मैनेजमेंट’

Ayodhya Management IMAGE
Ayodhya Management IMAGE

अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम श्रद्वालुओं में रामलला के नज़दीक से दर्शन के लिए होड़ लग गई और अयोध्या में रामभक्तों का सैलाब उमड़ आया. इन सबके बीच बड़ी बात ये है कि अयोध्या में लिए किया गया ‘महाराज’ का अयोध्या ‘मैनेजमेंट’ ना केवल काम आया, बल्कि ग्राउंड पर कारगर भी साबित हो गया. सूचना विभाग से जारी आंकड़ों के मुताबिक छह दिनों के भीतर तकरीबन 19 लाख श्रद्वालु सकुशल रामलला के दर्शन कर चुके है. यानि एक औसत के मुताबिक हर रोज़ 3 लाख से ज्यादा श्रद्वालु दर्शन कर रहे है.

बड़ी बात ये है कि अन्य धार्मिक स्थलों पर उम्मीद से ज्यादा भीड़ होने पर हादसे की ख़बरें आने लगती है लेकिन राम नगरी अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मैनेजमेंट के चलते सब कुछ कंट्रोल में है और सबकुछ व्यवस्थित तरीके से चल रहा है. आपको बता दें कि प्राण प्रतिष्ठा के अगले दिन यानि की 23 जनवरी को हालात बेकाबू हो गए थे. क्योंकि रामलला के दर्शन करने के लिए श्रद्वालुओं का सैलाब उमड़ आया था और उसको कंट्रोल करने के लिए पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने अफसरों को ग्राउंड पर उतारा और जब बात नहीं बनी तो फिर महाराज जी खुद ही ग्राउंड ज़ीरों पर उतर आए और उन्होंने तमाम व्यवस्थाओं का जायज़ा लेने के बाद राम मंदिर सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों को सिक्योरिटी मैनेजमेंट के कई टिप्स दिए. जिसका असर ये हुआ कि श्रद्वालु रामलला के दर्शन सुव्यवस्थित तरीके से कर रहे है.

अयोध्या में फिर योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर की सुरक्षा को लेकर कितने संजीदा है. इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वो प्राण प्रतिष्ठा के बाद से लगातार श्रद्वालुओं की आने वाली भीड़ पर नज़र बनाएं हुए है, और अयोध्या का दौरा कर रहे. सोमवार को विकास कार्यो की समीक्षा करने के लिए अयोध्या पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने हनुमान गढ़ी में पूजा अर्चना की और फिर उसके बाद रामलला के दर्शन किए और रामजन्म भूमि के विकास कार्यो की समीक्षा की. बता दें कि सीएम योगी के अयोध्या दौरे को लेकर राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सतेन्द्र दास ने बयान जारी किया और कहा कि सीएम योगी के आने से सारी व्यवस्था चाक-चौबंद रहती है और वो विकास कार्यो की समीक्षा करने आ रहे है, तो उससे रूके हुए काम जल्दी पूरे हो जाएंगे.

और भी खबरों के लिए यहां क्लिक करें.