×

देश

Dangerous Reaper Drone: 25 घंटे तक भरेगा उड़ान, नजर आते ही ढेर होंगे पाकिस्तानी आतंकी; जानें ड्रोन की खूबियां

Dangerous Reaper Drone : रक्षा मामलों से जुड़े जानकारों का कहना है कि रीपर ड्रोन मिलने से भारतीय सेना की ताकत बढ़ेगी और सीमापार से घुसपैठ पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी. कुल मिलाकर आतंकियों के लिए यह ड्रोन काल बनेगा.

Dangerous Reaper Drone: पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई सीमा पार बैठे आतंकियों की मदद से भारत को अशांत और अस्थिर करने की कोशिशों में जुटी रहती है. यही वजह है कि भारत के अहम शहरों पर हमेशा आतंकी हमलों का खतरा बना रहता है. इस बीच अहम खबर यह है कि जल्द ही भारतीय सेना को रीपर ड्रोन मिलने वाला है, जो आतंकियों की तलाश में सेना की मदद करेगा, जिसके बाद दहशतगर्दों का खात्मा आसान होगा.

रीपर ड्रोन के नाम से भी जाना जाता है

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सीमा पार से घुसपैठ रोकने में रीपर ड्रोन काफी मददगार साबित होगा. विश्व के सबसे खतरनाक मानव रहित हवाई वाहनों (unmanned aerial vehicles) में शुमार एमक्यू-9बी प्रीडेटर को जल्द ही भारतीय सेना में शामिल किया जाएगा. इसे रीपर ड्रोन के नाम से भी जाना जाता है.

6 साल बाद मिलेगा रीपर ड्रोन

यहां पर बता दें कि करीब 6 वर्ष पहले भारत ने अपनी जरूरतों को देखते हुए इस रीपर ड्रोन यानी एमक्यू-9बी प्रीडेटर में रुचि दिखाई थी. इसके बाद अब 390 करोड़ अमेरिकी डॉलर की अनुमानित लागत पर 31 USV की बिक्री को अमेरिका ने अनुमति दी है. बताया जा रहा है कि बिक्री के मद्देनजर आगामी कुछ महीनों के दौरान अमेरिका और भारत के बीच अनुबंध पर हस्ताक्षर किए जाएंगे.

यह भी पढ़ें: Bihar Politics : क्या बिहार में फिर होगा खेला? समझिये तेजस्वी यादव के ‘उस’ बयान के मायने

2 एमक्यू-9बी सी गार्जियन हैं भारत के पास

बता दें कि पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध के बीच भारत सरकार ने अमेरिका से एक वर्ष के लिए दो एमक्यू-9बी सी गार्जियन ड्रोन पट्टे पर लिए थे. इसका मकसद हिंद महासागर में चीन की गतिविधियों पर नजर रखना था. जरूरत को देखते हुए इसकी अवधि में इजाफा किया गया था.

नौसेना को मिलेगंगे 15 सी गार्जियन

बताया जा रहा है कि दुश्मन देशों के मद्देनजर 31 में से 15 सी गार्जियन ड्रोन भारतीय नौसेना को मिलेंगे. इसके अतिरिक्त वायु सेना और थल सेना को 8-8 स्काई गार्जियन ड्रोन उपलब्ध कराए जाएंगे. फिलहाल भारत के पास हंटर किलर ड्रोन उपलब्ध है. कहा जा रहा है कि रीपर ड्रोन मिलने से भारतीय सेना की ताकत बढ़ेगी और सीमापार से घुसपैठ पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी.

जानें खूबियां

  • खराब मौसम में भी रीपर ड्रोन दुश्मन को तलाश लेगा.
  • एक ड्रोन चार मिसाइल को एक साथ ले ज सकता है.
  • एक बार ईंधन भर ले तो यह 2000 मील का सफर तय कर सकता है.
  • यह अधिकतम 275 मील प्रतिघंटे यानी 442 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भर सकता है.
  • यह ड्रोन बिना लक्ष्य के भी जीमान से 250 मीटर के करीब उड़ान भर सकता है.
  • यह कॉमर्शियल विमान से भी अधिक उड़ान भरने में सक्षम है.
  • जनरल एटॉमिक्स एरोनॉटिकल सिस्टम्स द्वारा तैयार ड्रोन लगातार 25 घंटे तक उड़ान भरने में सक्षम है.

यह भी पढ़ें: Bharat Ratna: लालकृष्ण आडवाणी ने कैसे बदल दी देश की राजनीति? अब मिलेगा ‘भारत रत्न’