×

देश

भारतीय नौसेना ने बढ़ाई शक्ती, जानिए स्वदेशी ड्रोन मीडियम-एल्टिट्यूड लॉन्ग-एंड्यूरेंस की खासियत

भारतीय नौसेना ने अपनी शक्ति को बढ़ाते हुए बुधवार (10 जनवरी) को पहला स्वदेशी ‘मीडियम-एल्टिट्यूड लॉन्ग-एंड्यूरेंस’ (MALE) ड्रोन ‘दृष्टि 10 स्टारलाइनर’ को प्राप्त किया है. इस ड्रोन का उपयोग भारतीय सैन्य की खुफिया, निगरानी और टोही क्षमताओं को मजबूती प्रदान करने के लिए किया जा रहा है. नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने इस… Continue reading भारतीय नौसेना ने बढ़ाई शक्ती, जानिए स्वदेशी ड्रोन मीडियम-एल्टिट्यूड लॉन्ग-एंड्यूरेंस की खासियत

भारतीय नौसेना ने अपनी शक्ति को बढ़ाते हुए बुधवार (10 जनवरी) को पहला स्वदेशी ‘मीडियम-एल्टिट्यूड लॉन्ग-एंड्यूरेंस’ (MALE) ड्रोन ‘दृष्टि 10 स्टारलाइनर’ को प्राप्त किया है. इस ड्रोन का उपयोग भारतीय सैन्य की खुफिया, निगरानी और टोही क्षमताओं को मजबूती प्रदान करने के लिए किया जा रहा है. नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने इस ड्रोन को हिंद महासागर क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण साबित होने का आशीर्वाद दिया है, जहां विभिन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.

इस ‘दृष्टि 10 स्टारलाइनर’ ड्रोन को अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस ने हैदराबाद में तैयार किया है और इसके तैयारी में इजरायल की डिफेंस कंपनी ‘एल्बिट सिस्टम’ के टेक्नोलॉजी ट्रांसफर से मदद ली गई है. यह ड्रोन एल्बिट सिस्टम के हर्मीस 900 स्टारलाइनर ड्रोन का एक वेरिएंट है और इसे भारतीय सैन्य बल को अडानी डिफेंस की ओर से पहली बार डिलीवर किया गया है.

जानिए क्या है ड्रोन की खूबिया

इस ड्रोन की खूबिया हैं कि यह सभी प्रकार के मौसम में ऑपरेट किया जा सकता है 70% स्वदेशी तकनीक का उपयोग हुआ है और यह 36 घंटे तक निरंतर उड़ान भर सकता है. इसमें 450 किलोग्राम तक का पेलोड रखा जा सकता है और तीन हार्ड प्वाइंट्स से हथियार फिट किए जा सकते हैं। इसकी मेंटेनेंस जरूरत भी कम है, जिससे इसे ऑपरेट करना सरल हो जाता है. इसमें एक अद्वितीय अडवांस्ड कम्युनिकेशन सिस्टम भी है जो सुरक्षित डाटा ट्रांसफर को समर्थन करता है.

क्या बोले नौसेना प्रमुख एडमिरल हरि कुमार

नौसेना प्रमुख एडमिरल हरि कुमार ने बताया कि यह ड्रोन हैदराबाद में लॉन्च किया गया और आपातकालीन वित्तीय शक्तियों का उपयोग करके सेना और नौसेना के लिए चार और ड्रोन ऑर्डर किए गए हैं, जिनमें दो-दो दृष्टि 10 स्टारलाइनर ड्रोन शामिल हैं. आगामी महीनों में और ड्रोन्स की डिलीवरी की जाएगी और यह सशस्त्र बलों के लिए एक नई और महत्वपूर्ण सुरक्षा साधन के रूप में उपयोग होगा.

ये भी पढ़ें- बीजेपी का मिशन-2024 लोकसभा क्षेत्रों में सीएम योगी करेंगे दौरा