×

देश

एक हफ्ते में होने वाला है राम मंदिर में रामलला की प्रतिष्ठा का उद्घाटन

राम मंदिर में रामलला की प्रतिष्ठा का उद्घाटन एक हफ्ते में होने वाला है और इस मौके पर लोग उत्सुक हैं, चाहे वे भारतीय हों या विदेशी. इस मौके से जुड़ने के लिए उत्तरी भारत के उरी जिले की छात्रा बतूल जोहरा ने एक राम भजन को पहाड़ी भाषा में गाकर सजाया है. इस घटना… Continue reading एक हफ्ते में होने वाला है राम मंदिर में रामलला की प्रतिष्ठा का उद्घाटन

राम मंदिर में रामलला की प्रतिष्ठा का उद्घाटन एक हफ्ते में होने वाला है और इस मौके पर लोग उत्सुक हैं, चाहे वे भारतीय हों या विदेशी. इस मौके से जुड़ने के लिए उत्तरी भारत के उरी जिले की छात्रा बतूल जोहरा ने एक राम भजन को पहाड़ी भाषा में गाकर सजाया है. इस घटना ने वायरल होने का दहाद मचाया है और उसने राम भजन को पहाड़ी भाषा में प्रस्तुत किया है.

उरी जिले की बतूल जोहरा ने बताया कि उन्होंने राम मंदिर के उद्घाटन समारोह से जुड़ने का निर्णय लिया और इसके लिए जुबिन नौटियाल के गाने से प्रेरित होकर राम भजन को बनाया. उन्होंने इसे पहाड़ी भाषा में लिखा और गाया, जिससे यह गाना वायरल हो गया है.

जोहरा ने बताया कि उसके शिक्षक ने इसे सोशल मीडिया पर साझा किया जिससे यह वायरल हो गया है. उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इस कार्यक्रम में जुड़ने पर गर्व है और उनके मुस्लिम साथीयों ने भी उन्हें सराहा है.

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले 11 दिनों का व्रत रख रहे हैं. देश के कोने-कोने में सभी लोग प्रभु श्री राम के प्रति सम्मान व्यक्त करने वाली मधुर धुनें गा रहे हैं.’

उरी की रहने वाली बतूल जोहरा ने आगे कहा, ‘उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को मैं धन्यवाद कहना चाहूंगी, जिनकी वजह से लोगों के दिमाग से ढेर सारी नकारात्मक चीजें गायब हुई हैं. मेरे मुस्लिम भाइयों ने भी मेरी बहुत सराहना की है. हमारे इमाम ने संदेश दिया कि हमें उस देश से प्यार करना चाहिए जहां हम रहते हैं.’बतूल जोहरा ने कहा कि श्री राम को उनकी ईमानदारी और न्याय में विश्वास के कारण ‘पुरुषोत्तम’ कहा जाता था.

ये भी पढ़ें-भारत-मालदीव राजनीतिक विवाद: चीन के साथ बढ़ता दोस्ती का संकेत