×

देश

मोदी की विदेश नीति के कायल हुए पुतिन, बोले- उनकी मजबूत लीडरशिप के चलते यूरोप भारत के साथ गेम नहीं खेल पाता

Republic Day: रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत एक स्वतंत्र विदेश नीति का अनुसरण कर रहा है, जो आज की दुनिया में आसान नहीं है.

Republic Day: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भारत के 75वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत को शुभकामनाएं दीं. साथ ही रूसी दूतावास में आयोजित भव्य कार्यक्रम में भाग लिया। पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा की और भारत को ‘स्वतंत्र’ विदेश नीति का अनुसरण करने का श्रेय दिया।

स्वतंत्र विदेश नीति का कर रहा अनुसरण

रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत एक स्वतंत्र विदेश नीति का अनुसरण कर रहा है, जो आज की दुनिया में आसान नहीं है. 1.5 अरब की आबादी वाले भारत को ऐसा करने का अधिकार है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में उस अधिकार को महसूस किया जा रहा है। यह सिर्फ बयान नहीं है, यह संयुक्त कार्य संयुक्त रूप से आगे बढ़ने के लिए महत्वपूर्ण है.

‘मेक इन इंडिया’ पहल की सराहना

पुतिन ने भारत की ‘मेक इन इंडिया’ पहल की भी सराहना की और कहा कि रूस भारत में सबसे अधिक निवेश करने वाले देशों में से एक है। उन्होंने बताया कि रूसी कंपनी रोसेनेफ्ट ने भारत में विभिन्न परियोजनाओं में 23 अरब डॉलर का निवेश किया है, जैसे कि तेल रिफाइनरी का अधिग्रहण, गैस स्टेशनों का नेटवर्क, और एक बंदरगाह का निर्माण शामिल है.

इस मौके पर पुतिन ने भी व्यापक भरोसा जताया कि भारत रूस के खिलाफ किसी भी षड्यंत्र का हिस्सा नहीं बनेगा और आगे उन्होंने कहा मै आश्वस्त हूं कि नई दिल्ली अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेरे खिलाफ कोई ‘षड्यंत्र’ नहीं करेगा. सभी बयान भारत और रूस के बीच मजबूत और विशिष्ट साझेदारी को भी दर्शाते हैं.