×

राजनीति

राम मंदिर पर अखिलेश की ‘ना’, ठुकराया अयोध्या का निमंत्रण

Ram Lala Pran Pratishtha: अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह है. कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. वहीं इसी बीच बेहद दिलचस्प घटनाक्रम सामने आ रहा है. सपा चीफ अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) अब तक कह रहे थे कि उन्हें इस समारोह में शामिल होने का निमंत्रण… Continue reading राम मंदिर पर अखिलेश की ‘ना’, ठुकराया अयोध्या का निमंत्रण

Ram Lala Pran Pratishtha: अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह है. कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. वहीं इसी बीच बेहद दिलचस्प घटनाक्रम सामने आ रहा है. सपा चीफ अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) अब तक कह रहे थे कि उन्हें इस समारोह में शामिल होने का निमंत्रण नहीं मिला है, लेकिन आज विश्व हिंदू परिषद ने सामने आकर स्पष्ट किया उन्होंने अखिलेश यादव को निमंत्रण भेजा है. अखिलेश यादव को न्योता देने वीएचपी नेता अलोक कुमार गए थे.

अयोध्या नहीं जाएंगे, हमारा भगवान तो पीडीए: अखिलेश

मंगलवार को अखिलेश यादव से जब पूछा गया है कि वीएचपी कह रही है कि आपको निमंत्रण भेजा है आप जाएंगे या नहीं ?. इस पर उन्होंने यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि “हम उन्हें नहीं जानते.” सपा चीफ ने कहा कि जिन्हें हम जानते नहीं हैं, उन्हें निमंत्रण नहीं देते और न ही उनसे कोई निमंत्रण लेते हैं. सपा मुखिया ने आगे कहा कि किसी का कोई भगवान हो, हमारा भगवान तो पीडीए है.

वीएचपी ने कस तंज

सपा मुखिया के बयान पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, “अखिलेश यादव कह रहे थे कि अगर बुलाएंगे तो हम जाएंगे. तो हमने उनको बुलाया है अब वो कह रहे हैं कि राम जी बुलाएंगे तो जाएंगे. अब देखते हैं कि राम जी खुद बुलाते हैं उनको या नहीं. अगर नहीं बुलाएंगे तो साफ हो जाएगा कि राम जी शायद नहीं बुलाना चाहते हैं.”

ये भी पढ़ें: यूपी में 22 जनवरी को बंद रहेंगे सभी स्कूल-कॉलेज, शराब की बिक्री पर भी रोक