×

राज्य

Karwa Chauth 2022: जेल में बंद महिला कैदी मनाएंगी करवा चौथ, शाहजहांपुर जेल प्रशासन ने की खास तैयारी

आज करवा चौथ (Karwa Chauth 2022) का व्रत है जिसे लेकर तैयारियां सुबह से ही चल रही हैं.

नई दिल्ली : आज करवा चौथ (Karwa Chauth 2022) का व्रत है जिसे लेकर तैयारियां सुबह से ही चल रही हैं. हिंदू धर्म में करवा चौथ का विशेष महत्व है सुहागिन महिलाएं अपनी पति की लंबी उम्र के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं. करवा चौथ के दिन महिलाएं निर्जला उपवास रख पति की लंबी आयु की कामना करती हैं और रात में चांद देखकर अपना व्रत खोलती हैं. लेकिन कई ऐसी महिलाएं भी हैं जो कारागार में बंद हैं और वो भी करवा चौथ का व्रत रखी हैं इसके लिए जेल प्रशासन की तरफ से उनके लिए विशेष पूजा की व्यवस्था की गई है.

खबर में खास
  • महिला कैदियों ने रखा करवा चौथ का व्रत
  • पति से मिल सकेगीं महिला कैदी
  • महिलाओं के लिए विशेष व्यवस्था
महिला कैदियों ने रखा करवा चौथ का व्रत

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिला कारागार (Shahjahanpur Jail) में महिला बंदी (Women Prisoners) भी अपने पति की लंबी उम्र के लिए करवा चौथ मना पाएंगी. जेल प्रशासन ने महिला बंदियों के लिए विशेष व्यवस्था की है. जेल अधीक्षक मिजाजी लाल ने बृहस्पतिवार को बताया कि आज करवा चौथ का त्योहार है और इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना कर के व्रत रखती हैं और चांद देखने के पश्चात पति की पूजा करती हैं. ऐसे में जेल में बंद महिलाओं की पीड़ा को समझ कर जेल प्रशासन ने ऐसी व्यवस्था की है कि इस बार जेल में भी सुहागिन बंदी इस पर्व को मना पाएंगी

पति से मिल सकेगीं महिला कैदी

उन्होंने बताया कि इसके लिए महिला बंदियों को कहा गया है, कि यदि वे चाहें तो जेल के पीसीओ से अपने पति को बृहस्पतिवार सायं काल पूजा के समय बुलाकर उनका पूजन कर सकती हैं. उनका कहना था कि इसके साथ ही इस पर्व को मनाने के लिए महिला बंदियों को सजने संवरने के लिए श्रंगार की सभी सामग्री तथा मिष्ठान भी बुधवार शाम को वितरित किया गया है.

महिलाओं के लिए विशेष व्यवस्था

लाल ने बताया कि जेल में 66 महिला बंदी है जिनमें से कुछ महिलाओं के पति भी उनके साथ जेल में हैं. उनके अनुसार इसके अलावा अन्य महिलाओं के लिए व्यवस्था की गई है कि वे चाहें तो अपने पति को बुलाकर अपने घर की तरह जेल में भी उनका पूजन करके करवा चौथ का व्रत खोल सकती हैं.