×

राज्य

केरलः नरबलि मामले में शुरू हुआ राजनीति, बीजेपी ने लेफ्ट सरकार पर साधा निशाना

पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि अपराध आर्थिक तंगी दूर करने और समृद्धि प्राप्त करने के लिए किया गया. पथनमथिट्टा के एलानथूर में दंपित के घर से महिलाओं के शव के टुकड़ों को निकालने के अभियान का नेतृत्व किया था.

केरल में कथित तौर पर मानव बलि देने को लेकर 2 महिलाओं की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने सभी आरोपियों को बुधवार की सुबह अदालत में पेश किया. अदालत में पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ के लिए 10 दिन की हिरासत की मांग की है. पुलिस के अनुसार आरोपी भागवल सिंह, उसकी पत्नी लैला और मोहम्मद शफी के बयान मंगलवार को दर्ज किए गए थे. आरोपियों ने अपनी आर्थिक तंगी दूर करने और समृद्धि प्राप्त करने के लिए कथित तौर पर महिलाओं की बलि दी थी.

इस खबर में ये है खास

  • पैसों की चाहत में दी नरबलि!
  • राज्य सरकार पर BJP का हमला
  • दोषियों को सख्त सजा देने की मांग

पैसों की चाहत में दी नरबलि!

पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि अपराध आर्थिक तंगी दूर करने और समृद्धि प्राप्त करने के लिए किया गया. पथनमथिट्टा के एलानथूर में दंपित के घर से महिलाओं के शव के टुकड़ों को निकालने के अभियान का नेतृत्व किया था. पुलिस के अनुसार महिलाओं की उम्र 50 से 55 वर्ष के बीच थी. इनमें से एक कदवंथरा और दूसरी नजदीक स्थित कालडी की रहने वाली थी. वे सितंबर और जून से लापता थीं.

राज्य सरकार पर BJP का हमला

वहीं इस मामले में अब राजनीति भी शुरू हो चुकी है. बीजेपी ने इस मामले में केरल सरकार पर हमला किया है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने इस घटना की निंदा करते हुए केरल सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं. जावड़ेकर ने आरोप लगाया कि राज्य के पथनमथिट्टा जिले में सामने आया मामला केवल ‘‘महिला विरोधी’’ नही है बल्कि इसके कई पहलू हैं. उन्होंने दावा किया कि इस घटना में लेफ्ट का एक कार्यकर्ता भी शामिल है.

बरेलीः मंदिर में चोरी करते हुए पकड़ा गया जुबैर, पकड़े जाने पर खुद को बताया रोहित

दोषियों को सख्त सजा देने की मांग

जावड़ेकर ने कहा कि राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं और सरकार चुप है. उन्होंने कहा कि केरल में 2 महिलाओं की मानव बलि देने का मामला, अभी तक का सबसे घिनौना अपराध है. उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधा और कहा कि वह ‘‘गुंडागर्दी’’ को बढ़ावा देती है और यही वाम सरकार का असली चहरा है. यह ‘‘तथाकथित’’ धर्मनिरपेक्ष पार्टी ऐसी अमानवीय घटना पर चुप क्यों है? उन्होंने राज्य सरकार से दोषियों के खिलाफ तत्काल कानूनी कार्रवाई करने और उन्हें ऐसी सजा देने की मांग कि जिससे कोई ऐसा अपराध दोबारा करने की हिम्मत ना करे.