×

राज्य

Rajasthan Congress Crisis Live: गहलोत गुट के तीन कांग्रेस नेताओं को नोटिस, 10 दिन में देना होगा जवाब

राजस्थान में सियासी संकट (Rajasthan Congress Crisis) ने कांग्रेस के सामने नई मुसीबत खड़ी कर दी है. राजस्थान कांग्रेस के संकट ने पार्टी अध्यक्ष के चुनाव को नए मोड़ पर खड़ा दिया है.

नई दिल्ली. राजस्थान में सियासी संकट (Rajasthan Congress Crisis) ने कांग्रेस के सामने नई मुसीबत खड़ी कर दी है. राजस्थान कांग्रेस के संकट ने पार्टी अध्यक्ष के चुनाव को नए मोड़ पर खड़ा दिया है. अभी तक गांधी परिवार के भरोसेमंद रहे अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के अध्यक्ष पद पर सस्पेंस आ गया है. अब उनका अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ना आसान नहीं रह गया है. सोमवार को सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात के बाद अजय माकन ने विधायक दल की बैठक से अलग शांति धारीवाल के घर पर गहलोत गुट के विधायकों को अनुशासनहीन करार दिया है. फिलहाल अभी राजस्थान में 30 सितंबर तक स्थिति सही नहीं होने वाली है.

गहलोत के 3 नेताओं को नोटिस

  • पर्यवेक्षकों द्वारा अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए पार्टी प्रमुख को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के बाद, पार्टी की अनुशासन समिति द्वारा ने राजस्थान कांग्रेस 3 नेताओं और गहलोत के वफादारों धर्मेंद्र राठौर, मुख्य सचेतक महेश जोशी और संसदीय मामलों के मंत्री शांति धारीवाल को नोटिस जारी किए गए. उन्हें 10 दिन के भीतर जवाब देना होगा.

गहलोत की मंत्रियों और MLAs के साथ मीटिंग

Rajasthan CM Ashok Gehlot held an informal meeting with a few ministers and MLAs at the CM residence in Jaipur today, amid #RajasthanPoliticalCrisis: Sources https://t.co/9wZgFjaEud pic.twitter.com/qiGSJUffTk— ANI (@ANI) September 27, 2022

सचिन पायलट की दिल्ली यात्रा के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सीएम आवास पर कुछ विधायकों और मंत्रियों के साथ बैठक की है. यह बैठक ऐसे समय में हुए जब पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट में उन्हें क्लीन चिट मिली है.

पर्यवेक्षकों ने सोनिया को सौंपी रिपोर्ट

  • मंगलवार को पर्यवेक्षकों ने राजस्थान संकट पर सोनिया गांधी को रिपोर्ट सौंपी दी है. इस रिपोर्ट में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत क्लीन चिट दे दी गई है. वहीं गहलोत गुट के कुछ नेताओं पर कार्रवाई की सिफारिश भी की गई है.

गहलोत ने CM आवास पर बुलाई बैठक

#WATCH | Jaipur, Rajasthan: Special meeting of Ministers being held at Chief Minister Ashok Gehlot’s residence pic.twitter.com/SjbzdHDwiU— ANI (@ANI) September 27, 2022

  • सचिन पायलट के दिल्ली पहुंचते ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने CM आवास पर विधायकों और मंत्रियों की बैठक बुलाई है. इससे पहले गहलोत ने राजस्थान संकट के बाद पहली बार सोनिया गांधी से बात की है. उन्होंने कहा कि वह कभी भी कांग्रेस हाईकमान को चुनौती नहीं देंगे.

पायलट को आलाकमान के फैसले का इंतजार

Congress MLA Sachin Pilot is in constant touch with other MLAs apart from supporting MLAs. He has further asked his supporters to wait for the high command’s decision: Sources#RajasthanCongressCrisis

(File photo) pic.twitter.com/upekhnNVfH— ANI (@ANI) September 27, 2022

  • सूत्रों के अनुसार खबर है कि कांग्रेस नेता सचिन पायलट समर्थन करने वाले विधायकों के अलावा अन्य विधायकों के लगातार संपर्क में हैं. उन्होंने आगे अपने समर्थकों से आलाकमान के फैसले का इंतजार करने को कहा है.

19 MLAs के हिसाब CM बनाने का माहौल- खाचरियावास

#RajasthanCongressCrisis | An atmosphere was created that CM should be made as per 19 MLAs and not as per 102 MLAs. It’s on Sonia Gandhi to decide on Ashok Gehlot’s nomination (for Congress president): Gehlot loyalist minister PS Khachariyawas pic.twitter.com/nyEqOdcTJ7— ANI (@ANI) September 27, 2022

गहलोत गुट के मंत्री पीएस खाचरियावास ने कहा कि पर्यवेक्षकों को इतनी जल्दी परेशान नहीं होना चाहिए, उन्हें थोड़ी देर इंतजार करना चाहिए था. हम अपने ही लोगों से लड़ना नहीं चाहते. अगर धारीवाल जैसे वरिष्ठ नेता ने मुद्दे उठाए हैं तो पार्टी को उन पर ध्यान देना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि माहौल बनाया गया कि मुख्यमंत्री 19 विधायकों के हिसाब से बने, ना कि 102 विधायकों के हिसाब से. कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत के नामांकन फैसला करना सोनिया गांधी पर है.

MLAs को इस्तीफे के लिए बाध्य नहीं किया गया

Rajasthan | We informed all MLAs about the meeting at CM’s house. So it’s baseless that we gave the wrong information to MLAs. I myself didn’t know that people were meeting at Dhariwal’s residence. None of the MLAs were forced to sign the letter: Rajasthan minister Mahesh Joshi pic.twitter.com/zXGAM8LNjv— ANI MP/CG/Rajasthan (@ANI_MP_CG_RJ) September 27, 2022

  • गहलोत सरकार में मंत्री महेश जोशी ने कहा कि हमने सभी विधायकों को सीएम आवास पर बैठक की जानकारी दी. इसलिए यह निराधार है कि हमने विधायकों को गलत जानकारी दी. मुझे खुद नहीं पता था कि धारीवाल के आवास पर लोग मिल रहे हैं. किसी भी विधायक को पत्र पर हस्ताक्षर करने के लिए बाध्य नहीं किया गया.

दिल्ली पहुंचे सचिन पायलट

  • राजस्थान कांग्रेस के विधायक सचिन पायलट दिल्ली पहुंचे हैं. सभावना है कि वह दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं.

सोनिया से मुलाकात करेंगे पायलट

  • राजस्थान कांग्रेस संकट के बीच सचिन पायलट जयपुर से दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं. वह दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं.

पायलट को फैसले का इंतजार!

Congress MLA Sachin Pilot refutes the following information; says he has spoken neither with the party’s high command nor with Rajasthan CM Ashok Gehlot pic.twitter.com/RT54CqMfzo— ANI (@ANI) September 27, 2022

  • मंगलवार को खबर आई कि सचिन पायलट ने कांग्रेस आलाकमान से कहा है कि अगर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने का फैसला करते हैं तो उन्हें सीएम नहीं रहना चाहिए और विधायकों को साथ लाना उनकी जिम्मेदारी है. हालांकि बाद उन्होंने इस खबर का खंडन कर दिया.

आज सोनिया को सौंपेंगे रिपोर्ट

  • मल्लिकार्जुन खड़गे और अजय माकन ने सोमवार को राजस्थान संकट पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. मुलाकात के दौरान सोनिया ने संकट पर लिखित रिपोर्ट मांगी थी, जिसे आज सौंपी जा सकती है.