×

राज्य

विश्व में वसुधैव कुटुंबकम की नींव रख सकते हैं भारत-अमेरिका: पीएन अरोड़ा

America India Relation: सम्मेलन के अंतर्गत अमृतकाल आत्मनिर्भर भारत एवं अमेरिका के संबंधों में मजबूती लाने के विषय पर चर्चा की गई .

America India Relation: होटल द लीला पैलेस न्यू दिल्ली में यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटलस कौशांबी व इंडो अमेरिकन चैंबर ऑफ़ कॉमर्स द्वारा 30 जनवरी 2024 को सम्मेलन का आयोजन किया गया. सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, अमेरिका के राजदूत एरिक गार्सिटी उपस्थित रहे.

इस समारोह में उत्तर प्रदेश सरकार के अधिनिष्ठ इन्वेस्ट यू पी भी भागीदार रहे. सम्मेलन के अंतर्गत अमृतकाल आत्मनिर्भर भारत एवं अमेरिका के संबंधों में मजबूती लाने के विषय पर चर्चा की गई .

विकसित भारत के सपने को मिलेगी तेजी

सभा के दौरान माननीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी ने कहा कि भारत सरकार द्वारा एक नए भारत की नीव रखी गई है जो कि आत्मनिर्भर है और भारत में होने वाले अमेरिकी निवेश से माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के विकसित भारत के सपने को और तेजी मिलेगी.

“अमृतकाल-आत्मनिर्भर भारत”

यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की प्रबंध निदेशक डॉ उपासना अरोड़ा ने समारोह में सबका स्वागत करते हुए कहा कि “अमृतकाल-आत्मनिर्भर भारत” शब्द एक आत्मनिर्भर भारत की दृष्टि को समाहित करता है जो न केवल अपनी घरेलू जरूरतों को पूरा करता है बल्कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ भी सक्रिय रूप से जुड़ता है.

भारतीय सेना भी और अधिक आत्मनिर्भर

हम प्रौद्योगिकी, व्यापार, स्वास्थ्य देखभाल और शिक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग की अपार संभावनाओं को पहचानते हैं. उन्होंने माननीय रक्षा मंत्री जी की सराहना करते हुए कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान देश के साथ-साथ भारतीय सेना भी और अधिक आत्मनिर्भर हो गई है.

भारत और अमेरिका अंतरिक्ष में भी एक साथ काम कर रहे

अमेरिकी राजदूत श्री एरिक गत सिटी ने द्विपक्षीय आर्थिक विस्तार के लिए भारत भारत में बेहतर करधन और नियामक ढांचा तय करने पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका अंतरिक्ष में भी एक साथ काम कर रहे हैं, हम समुद्र की गहराई में भी एक साथ हैं. वस्तुतः क्षैतिज या ऊर्ध्वाधर रूप से इस संबंध की हमारी कोई सीमा नहीं है.

विश्व में वसुधैव कुटुंबकम की रख सकते नींव

सभा के दौरान यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के अध्यक्ष डॉक्टर पी न अरोड़ा ने कहा कि अमेरिकी राजदूत के साथ मुलाकात में उन्होंने पाया कि भारत और अमेरिका विश्व के सबसे बड़े डेमोक्रेटिक देश होने के साथ-साथ विश्व में वसुधैव कुटुंबकम की नींव रख सकते हैं.