×

राज्य

Railways Land For Job Case: लालू यादव की पत्नी और 2 बेटियों को भी मिली राहत, जानिये पूरा मामला

Railways Land For Job Case: दिल्ली की राउज एवेन्यु कोर्ट ने अहम सुनवाई के दौरान राबड़ी देवी, मीसा भारती और हेमा यादव को अंतरित जमानत दे दी है.

Delhi court granted interim bail to former Bihar chief minister Rabri Devi daughters Misa Bharti Hema Yadav
Delhi court granted interim bail to former Bihar chief minister Rabri Devi daughters Misa Bharti Hema Yadav

नई दिल्ली/पटना, India Ahead Digital Desk: जमीन के बदले नौकरी घोटाला (Land For Job) मामले में फंसे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव के परिवार को दिल्ली की कोर्ट से शुक्रवार को बड़ी राहत मिली है. दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने अहम सुनवाई के दौरान राबड़ी देवी, मीसा भारती और हेमा यादव को अगली सुनवाई तक अंतरिम जमानत दे दी है. कोर्ट ने तीनों को 1 लाख का बेल बॉन्ड भरने के लिए कहा है. इसके बाद कुछ ही देर में तीनों को जमानत मिल गई है. कोर्ट के मुताबिक, मामले की अगली सुनवाई 28 फरवरी को होगी.

28 फरवरी को होगी अगली सुनवाई

लैंड फॉर जॉब मामले में राबड़ी देवी, मीसा भारती और हेमा के साथ ह्रदयानंद को भी राउट एवेन्यु कोर्ट ने जमानत दे दी है. इसके साथ ही कोर्ट ने आरोपियों की नियमित जमानत याचिका पर प्रवर्तन निदेशालय ने जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा है. बताा जा रहा है कि अगली सुनवाई 28 फरवरी को होगी और इस दौरान आरोपियों की नियमित जमानत पर भी इसी तारीख पर सुनवाई की जाएगी.

जमीन के बदले ग्रुप पर डी में की गई

यहां पर बता दें कि जमीन के बदले नौकरी घोटाला वर्ष 2004 और 2009 के दौरान हुआ था. इस दौरान केंद्रीय रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव थे. जांच में पाया गया कि लालू के मंत्री रहने के दौरान रेलवे में ग्रुप डी में की भर्तियां की गई थीं. हैरत की बात यह है कि कई लोगों को आवेदन देने के 3 दिन के दौरान ही नौकरी दे दी गई थी.

यह भी पढ़ें: Swami Prasad Maurya: अखिलेश यादव के किस करीबी नेता ने कहा- स्वामी प्रसाद मौर्य की मानसिक स्थिति ठीक नहीं

लालू परिवार को 7 जगहों पर मिली जमीन

केंद्रीय जांच एजेंसियों ने जांच के दौरान पाया कि अभ्यर्थियों से नौकरी के बदले घूस में जमीन ली गई थी. जांच आगे बढ़ी तो लालू परिवार पर भी जमीन के बदले नौकरी देने का आरोप लगा. इसमें लाल प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के अलावा उनकी बेटियों को भी शामिल पाया गया. ईडी की चार्जशीट के मुताबिक, लालू प्रसाद यादव परिवार को 7 जगहों पर जमीनें मिलीं हैं.

आनन फानन में दी गईं नियुक्तियां

यह भी पता चला कि नियम कानूनों का दरकिनार करते हुए विज्ञापन तक नहीं निकाला गया और आनन-फानन में नौकरियां दे दी गईं. ये नियुक्तियां मुंबई, जबलपुर, कोलकाता और जयपुर जोन में नियुक्तियां की गईं. यह भी जानकारी मिली कि 1 लाख स्क्वायर फीट से ज्यादा जमीन सिर्फ 26 लाख में खरीदी गई. वहीं, हकीकत में जमीनों की कीमत करीब 4.39 करोड़ थी. कुल मिलाकर पर लालू परिवार पर 600 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है.

यह भी पढ़ें: IMD Weather Alert: दिल्ली-यूपी में कब तक परेशान करेगी बर्फीली हवा, कब मिलेगी ठंड से राहत; पढ़ें- IMD का अपडेट