×

राज्य

गाजियाबाद की डासना जेल में सजा ‘राम दरबार’, मुस्लिम कैदियों ने किया भव्य मंचन

गाजियाबाद : 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाली भगवान श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा से पहले केंद्र और राज्य सरकार ने कहा है कि हर जेल में दीपावली जैसा माहौल बनाकर जेल को सुधार ग्रह की तरह पेश किया जाये. मिले आदेश के बाद गाजियाबाद जेल प्रशासन ने जेल में बंद बंदियों के द्वारा… Continue reading गाजियाबाद की डासना जेल में सजा ‘राम दरबार’, मुस्लिम कैदियों ने किया भव्य मंचन

Ram Darbar Image

गाजियाबाद : 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाली भगवान श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा से पहले केंद्र और राज्य सरकार ने कहा है कि हर जेल में दीपावली जैसा माहौल बनाकर जेल को सुधार ग्रह की तरह पेश किया जाये. मिले आदेश के बाद गाजियाबाद जेल प्रशासन ने जेल में बंद बंदियों के द्वारा भगवान राम के राजतिलक और उनके आदर्शों को प्रस्तुत किया है.

गाजियाबाद की डासना जेल में माँ सरस्वती और गणेश वंदना से शुरू की रिहर्सल

जेल मे इस आयोजन का आज से रिहर्सल शुरू हो गया है. जेल मे बंद बंदियों ने आज इस कार्यक्रम की शुरुआत माँ सरस्वती की वंदना और गणेश वंदना से शुरू की. जेल के अंदर सजावट देख ऐसा लग रहा था मानो दिपावली पर किसी आलीशान कोठी रोशनी से जगमगा दिया हो. रोशनी के बीच एक मंच को राम दरबार के रूप मैं सजाया गया था. भगवान राम लंका मे रावण का वध करने के बाद माता सीता लक्ष्मण और हनुमानजी सहित जब अपनी जन्म भूमि श्री अयोध्या जी वापस आते है और तो वो अयोध्या आते ही भगवान श्री राम अपनी जन्म भूमि को नमन करते हैं. जिसके बाद गुरु और माताओं को प्रणाम कर अपने भाई भरत को गले लगाते हैं. भरत श्री राम को उनकी खड़ाऊ पहनाते है जिसके बाद विधि विधान के साथ उनका राज तिलक होता है.

अयोध्या में प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर देशभर में धूम, मुस्लिम कैदी भी बढ़-चढ़कर ले रहें हिस्सा

22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले पूरे देश में उत्साह का माहौल है. यूपी में भी भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोरों से चल रही हैं. इधर, पूरा प्रदेश रामभक्ति में डूब गया है. यूपी के जेलों में भी माहौल रामभक्ति का हो गया है. जेलों में राम दरबार लगना शुरू हो गया है. खास बात यह है कि इसमें मिस्लिम कैदी भी बढ़- चढ़कर भाग ले रहे हैं.

इस भव्य आयोजन पर जेल अधीक्षक ने बताया प्रभु के आदर्शों को जीवन मे उतार कर जेल को सजा घर की जगह सुधार घर मे बदला जाएगा जिससे यहां से बाहर निकलने वाला हर अपराधी समाज मे समाजिक व्यक्ति की तरह जीवन बिता सके.

और भी खबरों के लिए यहां क्लिक करें