×

Uttar Pradesh

Gyanwapi ASI Survey: ज्ञानवापी मामले में स्वामी जितेन्द्रानंद सरस्वती बोले- मुस्लिम बहकावे में ना आएं

Gyanwapi ASI Survey: स्वामी जितेन्द्रानंद सरस्वती ने कहा कि मुस्लिम समुदाय को हिन्दू समुदाय के सब्र का समर्थन करना चाहिए और वे फर्जी इतिहासकारों की बातों में न आएं।

Gyanwapi ASI Survey: वाराणसी के ज्ञानवापी मामले में एएसआई की सर्वे रिपोर्ट ने हिन्दू और मुस्लिम समुदाय को आमने-सामने खड़ा कर दिया है। रिपोर्ट सामने आने के बाद हिन्दू और मुस्लिम पक्ष की ओर से अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं.

अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री सवामी जितेन्द्रानंद सरस्वती ने ज्ञानवापी को लेकर बड़ी बात कही है. उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय को समर्थन करना चाहिए और वे फर्जी इतिहासकारों की बातों में न आएं। ज्ञानवापी में हुए ASI सर्वे की रिपोर्ट सार्वजनिक होने के बाद अखिल भारतीय संत समिति के महामंत्री जितेंद्रा नंद सरस्वती का बयान सामने आया.

मुस्लिम पक्ष रोना-धोना छोड़ करके ज्ञानवापी को हिंदुओं को सौंप दे तो ही बेहतर होगा, हमारे धैर्य की परीक्षा मत लीजिए। एएसआई की सर्वे रिपोर्ट ने इतिहासकार एएस अल्टेकर के तथ्यों और नक्शे पर मुहर लगाई है. जोसफ प्रिसले और इतिहासकार यदुनाथ ने पहले ही इसे मंदिर बता चुके है और इसका नक्शा भी उन्होंने उस समय बनाया था.

एएसआई की रिपोर्ट में है ये सच

आपको बता दें कि एएसआई की सर्वे रिपोर्ट में ज्ञानवापी के पश्चिमी हिस्से में मंदिर का हिस्सा बताया गया है. इसके अलावा स्टडी रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि मौजूदा स्ट्रचर मंदिर के खम्बों पर बना हुआ हुआ है. हिन्दू पक्ष के वकील विष्णु शंकर जैन ने एएसआई की रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद दावा किया है. इस विवाद में सामंजस्य और सभी समुदायों के बीच सहज समझदारी की आवश्यकता है