×

Uttar Pradesh

ओपी राजभर बोले- RLD 10-20 सीटों पर लड़ी तो नहीं जीतेगी एक भी सीट

Lok Sabha Chunav 2024: सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) प्रमुख ओपी राजभर ने बृहस्पतिवार को बृहस्पतिवार को इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

OP Rajbhar said that RLD will contest on 10-20 seats and will not win even a single seat
OP Rajbhar said that RLD will contest on 10-20 seats and will not win even a single seat

लखनऊ, India Ahead Digital Desk : पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मजबूत माने जाने वाले राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल होने की खबरों के बीच उत्तर प्रदेश में राजनीतिक हलचल तेज है. जैसी ही इस तरह की खबर सामने आई तो केंद्रीय मंत्री अनुराधा पटेल ने जयंत चौधरी का एनडीए में स्वागत किया था. इसके बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) प्रमुख ओपी राजभर ने बृहस्पतिवार को इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. अपने बयान में उन्होंने एक तरह से कहा है कि विपक्षी दलों का एनडीए में आना मजबूरी है.

Lok Sabha Chunav 2024 सीटें कैसे जीतेंगे

RLD प्रमुख जयंत चौधरी के NDA में शामिल होने की चर्चा पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) प्रमुख ओपी राजभर ने कहा कि सच्चाई होती है तभी चर्चा होती है. RLD को इस बात की खबर है कि अगर I.N.D.I.A. में उन्होंने 10-20 सीटें भी ले ली तब भी नहीं जीत पाएंगे.

Lok Sabha Chunav 2024 तीसरी बार भी सत्ता में आएंगे मोदी

उन्होंने कहा कि हर नेता और हर दल सत्ता के साथ रहना चाहता है और हर कोई जानता है कि 2024 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीसरी बार भी केंद्र की सत्ता में आ रहे हैं. ऐसे में जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आ रहे हैं तो वे (जयंत चौधरी) क्या करेंगे? केवल विपक्ष में बैठकर चिल्लाएंगे?

Lok Sabha Chunav 2024 लगातार पड़ रही विपक्ष में फूट

यहां पर बता दें कि आगामी कुछ महीनों के दौरान लोकसभा चुनाव 2024 होना है. इसके लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन और कांग्रेस नीत I.N.D.I.A. गठबंधन में टक्कर होनी है, लेकिन विपक्ष में लगातार फूट पड़ रही है.

Lok Sabha Chunav 2024 नीतीश कुमार पहले ही हो चुके हैं अलग

नीतीश कुमार पहले ही अलग हो चुके हैं, जिन्होंने I.N.D.I.A. गठबंधन की नींव रखी थी. आम आदमी पार्टी पंजाब और दिल्ली में सत्ता में है. दोनों ही राज्यों में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच सीटों का बंटवारा होना करीब-करीब नामुमकिन है.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड इंडस्ट्री का वह एक्टर जिसे सिर्फ 11 दिन में मिलीं 47 फिल्में, आखिर क्यों चले गए गुमनामी के अंधेरे में?