×

Uttar Pradesh

मथुरा विवादित शाही ईदगाह के सर्वे पर फिलहाल लगी रोक, सुप्रीम कोर्ट में अप्रैल तक टली सुनवाई

Sri Krishna Janmabhoomi Case: यूपी के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई अप्रैल के लिए टल गई है. सुप्रीम कोर्ट की टली सुनवाई ने विवादित मोड ले लिया है.

Sri Krishna Janmabhoomi Case: यूपी के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई अप्रैल के लिए टल गई है मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में हुई सुप्रीम कोर्ट की टली सुनवाई ने विवादित मोड ले लिया है. हालांकि, इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शाही ईदगाह के स्थल पर सर्वे की मंजूरी दी थी, जिसे कुछ वकीलों ने अवैध बताया है.

विवादित स्थल के सर्वे पर रोक को लेकर शाही ईदगाह कमेटी ने विरोध किया है, और सभी मामले को हाईकोर्ट ट्रांसफर होने का विरोध किया है. सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों को सभी पक्षों के जवाब देने के लिए कहा है.

याचिका दायर कर सर्वे की थी मांग

भगवान श्री कृष्ण विराजमान’ और 7 अन्य लोगों ने वकील विष्णु शंकर जैन, हरि शंकर जैन, देवकी नंदन और प्रभाष पांडे के माध्यम से इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सर्वे की मांग की थी. याचिका में दावा किया गया था कि मस्जिद के नीचे भगवान श्री कृष्ण का जन्मस्थान है. वहां मौजूद कई सकेंत दर्शाते हैं कि वहां हिंदू मंदिर था।

प्रतीक हिंदू मंदिर की विशेषता दर्शातें

विष्णु शंकर जैन ने याचिका में कहा कि वहां कमल के आकार का एक स्तंभ और शेषनाग की एक प्रतिकृति है. जो कि हिंदू मंदिरों की विशेषता को दर्शाता है शेषनाग की प्रतिकृति हिंदू देवताओं में से एक हैं, जिन्होंने जन्म की रात भगवान कृष्ण की रक्षा की थी.

आपको बता दें कि श्रीकृष्ण जन्मस्थान शाही ईदगाह मामले में 12 अक्टूबर 1968 को एक समझौता हुआ था. इस समझौते में 13.37 एकड़ भूमि में से करीब 2.37 एकड़ भूमि शाही ईदगाह के लिए दी गई थी. लेकिन इस समझौते के बाद इस समझौते के बाद श्री कृष्ण जन्मभूमि सेवा संघ को भंग कर दिया गया.