×

विदेश

अयोध्या में श्रद्धालुओं की भीड़ की सुविधाओं को लेकर CM योगी ने की बैठक

अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के बाद से श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला लगातार जारी है. इसे लेकर अयोध्या में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ पड़ी है. जिसे देखते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लगातार अधिकिरियों के साथ बैठक कर रहे है. जिससे किसी तरह की घटना उत्पन्न ना हो सकें.अयोध्या… Continue reading अयोध्या में श्रद्धालुओं की भीड़ की सुविधाओं को लेकर CM योगी ने की बैठक

अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के बाद से श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला लगातार जारी है. इसे लेकर अयोध्या में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ पड़ी है. जिसे देखते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लगातार अधिकिरियों के साथ बैठक कर रहे है. जिससे किसी तरह की घटना उत्पन्न ना हो सकें.
अयोध्या में 23 जनवरी से राम मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है. देश के कोने कोने से प्रतिदिन लाखों श्रद्धालु रामलला के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. तो वहीं जिला प्रशासन भी रामलला के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं के लिये इंतजाम में जुटा हुआ हैं. इसी इंतजाम की समीक्षा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार अयोध्या पहुंचे. यहां उन्होंने रामलला के दर्शन पूजन आराधना की इसके बाद उन्होंने देशभर से अयोध्या आ रहे श्रद्धालुओं की सुरक्षा, सुविधा और तैयारियों का भी जायजा लिया.

अयोध्या दौरे के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर परिसर स्थित कंट्रोल रूम पहुंचे जहां उन्होंने प्रदेश, जोन और जिले के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की इस दौरान उन्होंने कहा कि अब मौसम खुलने लगा है और ठंड में भी कमी देखने को मिल रही है, जिससे अयोध्या में आने वाले समयों में पर्यटकों और रामभक्तों की संख्या में बढ़ोतरी होगी.

अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने आने वाले दिनों में देश के विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों पर भी चर्चा की… और अधिकारियों को दूसरे प्रदेशों के विशिष्ट अतिथियों की सुविधा और सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम करने के निर्देश दिए.

19 लाख तीर्थयात्रियों ने अयोध्या में राम लला के भव्य मंदिर में पूजा-अर्चना की

मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि कोई भी श्रद्धालु फिर चाहे वो आम नागरिक हो या विशिष्ट अतिथि, उसे दर्शन-पूजन में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. इसके साथ ही श्रद्धालुओं को अयोध्या में रुकने के लिए होटल, होम स्टे और टेंट सिटी में भी पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए.

प्राण प्रतिष्ठा समारोह के केवल छह दिनों के अंदर तकरीबन 19 लाख तीर्थयात्रियों ने अयोध्या में राम लला के भव्य मंदिर में पूजा-अर्चना की है. जिनकी सुविधाओं को ध्यान में देखते हुए एक प्रतिष्ठित समिति की स्थापना की गई है, जो अयोध्या आने वाले भक्तों का ध्यान रखें जिससे उन्हें किसी तरह की बाधा ना हो…. और वे बिना किसी बाधा के रामलला का दर्शन कर सके.

ये भी पढ़ें- भारत में चीन के नए एंबेसडर की नियुक्ति की संभावना